दर्द छुपाना आसान नहीं होता



दर्द छुपाना आसान नहीं होता | कभी चेहरा तो कभी आंखें बयां कर जाती है | मुझे पता न था दर्द मेरा पर उसे छुपता रहा दबाता रहा बेवजह |
कभी न मुड़ना पीछे राहों में ए राही , परछाइयों में हमारे निशान नजर आएंगे और इनसे बरसते प्यार से तुम्हारी आँखें भर आए
गी | 




कोई भी रास्ता नजर ना आये तो आपने जो रास्ता चुना है उसे एक बार आँखें बंद कर देखो | 

कोई नाम तुम को उस नाम वाले व्यक्तिओं या जगह तक ले कर जा सकता है, इसी कारण ही हमें नाम स्रवण का जाप करना सही लगता है | 
Previous
Next Post »