Sotution of Fear.....?

Sotution of Fear.....?

डर
  • अपने द्वारा कहे गये शब्दो के चयन से |
  • किसी के द्वारा गलत समझे जाने से |
  • गलती होने पर उसको सुधारने का चिंतन करने के बजाय आत्म आलोचना से |
  • अनावश्यक दिखावा |
  • खुद व दूसरों से ज्यादा अपेक्षा |


उपाय

  • अपने द्वारा कहे गए शब्दों के सही और समयानुकूल रखने के लिए; पुस्तकों का अध्य्यन अपने विचारों को उचित व पौस्टिक सूचना देना जिस से निर्णय अधिक असरदार हो सके |
  • कोई हमें गलत समझता है ये हमें लगता है ये हमें लगता है क्योंकि हम स्वयं को गलत समझ रहे होते हैं |

          खुद को सही समझो; सही से समझो तुम क्या कह रहे थे उसे समझो; क्यों कह रहे थे उसे समझो, किसी के प्रभाव में कह रहे हो या स्वयं सोच समझ कर आचरण कर रहे हो |
          सब को समझने के पीछे समय बर्बाद न करते हुए स्वयं को समझने में समय निवेश करो तो जीवन आनंद की परिभाषा बन जायेगा | 
Previous
Next Post »